Powered by Blogger.

ഒരു ഹൈടെക് പുതുവര്‍ഷത്തിലേയ്ക്ക് ഏവര്‍ക്കും സ്വാഗതം.....

അഭ്യാസമില്ലാത്തവര്‍ പാകം ചെയ്തെതെന്നോര്‍ത്ത് സഭ്യരാം ജനം കല്ലുനീക്കിയും ഭുജിച്ചീടും..എന്ന വിശ്വാസത്തോടെ

Monday, December 16, 2013

2nd Term Exam Dec. 2014 X Hin Qn Answers – A Model

*ഇതിന്റെ പി.ഡി.എഫ് രൂപം പോസ്റ്റിനു താഴെയുള്ള ലിങ്കില്‍ നിന്ന് ഡൗണ്‍ലോഡ് ചെയ്യാവുന്നതാണ്....

1. तालिका की पूर्ति 2
पाठ
प्रोक्ति
रचयिता
वह तो अच्छा हुआ    
कविता
भगवत रावत
गौरा
रेखाचित्र
महादेवी वर्मा
आदमी का बच्चा
कहानी
यशपाल
सकुबाई
(एकपात्रीय) नाटक
नादिरा ज़हीर बब्बर

2. घटनाओं को क्रमबद्ध करके लिखना 2
  • शांता ने चिकित्सा क्षेत्र में जाने का निश्चय किया।
  • जनरल अस्पताल में नियुक्ति हुई।
  • कैंसर इन्स्टिट्यूट में काम करना शुरू किया।
  • मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित हुई।
3. सकुबाई की विशेषताएँ- 2
  • आज्ञाकारी नौकरानी।
  • कठिन मेहनत करनेवाली (नारी)
4. सही मिलान करें- 3
Reservation - आरक्षण
Sleeper class - शयनयान कक्ष
Emergency Exit - आपातकालीन निकास
5-7 किन्हीं दो के उत्तर लिखें।
5. शहरीकरण के कारण मानव अपने महान मानवीय गुणों को भूल बैठा है। इसलिए दिल में दया पैदा करनावाला
बच्चे का रोना उसपर बड़ा प्रभाव नहीं डालता। 2
6. आया बिंदी का बेटा लल्लू दो साल पहले भूख से मर गया था। जब मेमसाब ने कहा कि 'भूख से मरते हैं कमीने
आदमियों के बच्चे' ,आया का गला रुँध गया। क्योंकि तब उसे अपने प्यारे बेटे की याद आई थी। 2
7. अन्य दानों से अवयवदान बिल्कुल भिन्न है। क्योंकि यह प्राय: हमारी मृत्यु के बाद होता है। मृत्यु के बाद भी हमारे
अंग अन्य लोगों की जान बचाने या जिंदगी सुखदायक बनाने में सहायक होते हैं। 2
8. सकुबाई की जीवनी 4

शकुन्तला एक मराठी औरत है। उन्हें लोग सकुबाई पुकारते हैं। उनके पिता का नाम तुकाराम जामडे और माता का नाम लक्ष्मी हैं। उनके एक बहन-वासंती और एक भाई-नितिन हैं। वे पूजा कपूर मेमसाब के घर में नौकरानी हैं। उनके पिता का सीधा हाथ टेढ़ा है, लेकिन दिन-रात मेहनत करते हैं। उनके एक बेटी है साइली। वे अपने परिवार के साथ गाँव में रहती थीं। जब उनकी दादी की मृत्यु हुई तब उनके नानी और मामा के निर्देश के अनुसार वे माँ और नितिन के साथ मुंबई पहुँचीं। उनकी बहन वासंती और बाबा गाँव में ही रहते हैं, क्योंकि गाँव में उनके खेत हैं। वे स्कूल जाना बहुत चाहती थीं, लेकिन आर्थिक कठिनाई से उनकी माता ने उन्हें स्कूल जाने नहीं दिया। वासंती को भी स्कूल नहीं भेजा। लेकिन लड़का होने के कारण माँ ने नितिन को पढ़ाया था।
9. संकरी गंदी गली में बच्चा छोड़ा गया है - रपट 4
संकरी गली में बच्चा छोड़ा गया
रामनगर, तारीख:........ लोदी गली में एक बच्चा छोड़ा गया। घंटों तक वह मासूम बच्चा किसी के भी ध्यान में न पड़कर गंदगी में लिपटे रो रहा था। लोग अपनी व्यस्तता में दूर से देखकर चल रहे थे, रोते बच्चे की ओर ध्यान न देकर चर रहे थे। बच्चे का रोना प्राय: लोगों के दिल में दया पैदा करता है। गरीब लोगों की गंदी, संकरी गली को नगण्य माननेवाले लोग गरीब परिवार के बच्चे को भी ऐसा ही मानते हैं।
10. बाबूलाल तेली - सहकर्मचारी के बीच का वार्तालाप 4
अमन : बाबूलाल जी, यह क्या हुआ है?
बाबूलाल तेली : सुबह मैं दफ़्तर की ओर जा रहा था। तभी ये सब हुए हैं।
अमन : कितने बजे?
बाबूलाल : ठीक साढ़े नौ बजे।
अमन : आपपर यह हमला किसने किया?
बाबूलाल : एक बलिष्ठ व्यक्ति ने। उनके बारे में मुझे पता नहीं है।
अमन : उन्होंने क्या किया?
बाबूलाल : मेरी नाक पर एक ज़ोरदार घूँसा मारा।
अमन : क्यों?
बाबूलाल : एक टूटे-फूटे आदमी को यों ही पीट रहे थे। मेरे मुँह से 'अरे-अरे' निकला। बस इतनी-सी बात पर उन्होंने मेरी नाक पर ज़ोरदार घूँसा मारा।
अमन : अब कैसे हैं?
बाबूलाल : अब तो नाक के अंदर और पूरे सिर में जलन महसूस हो रहा है। बात करना भी मुश्किल है। नाक से सास लेना भी कठिन लगता है।
अमन : ठीक है।आप आराम कीजिए। लेकिन आपको सरकारी अस्पताल जाना चाहिए था।
बाबूलाल : तब उतना सोचने का समय नहीं था। नाक से खून बह रहा था।
अमन : सरकारी अस्पताल जाने से पूरा खर्च सरकार लेता है।
बाबूलाल : वह तो ठीक है।
11. जीवन शैली बीमारियाँ विषय पर प्रदर्शनी - उद्घोषणा 3
प्यारे छात्र-छात्राओ, ध्यान दें। अगले बुधवार को विश्व स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य में हमारे स्कूल में जीवन शैली बीमारियाँ विषय पर एक प्रदर्शनी आयोजित कर रहे हैं। प्रदर्शनी का उद्घाटन 10 बजे को पंचायत अध्यक्ष श्रीमती टी. सुलजा करेंगी। सभी छात्र समय पर आकर इसका फायदा उठाएँ।
कविता के आधार पर उत्तर
12. चंद्रलोक और अंतरिक्ष में मानव के पदार्पण से देश-काल के बाधा-बंधन छिन्न हुए। (पदार्पण-കാല്‍വെപ്പ്)1
13. एक उचित शीर्षक – छिन्न हुए देश-काल के बंधन 1
14. कविता का आशय 3
यह कवितांश अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में मानव के उछाल के संबंध में बताती है। अंतरिक्ष के क्षेत्र में बहुत बड़ा विकास हो रहा है।
चंद्रमा और अंतरिक्ष में मानव का पदार्पण ने देश-काल का बाधा-बंधन तोड़ दिया है। कितने भी विदूर-स्थान हो वहाँ पहुँचना आज आसान बन गया है। इस प्रकार आदि मानव मनु के पुत्र ने दिग्विजय प्राप्त किया है। अत: यह अत्यंत महत्वपूर्ण है। मानव-मानव के बीच में जो भेद-भाव और विरोध है वह दूर हो जाए और सभी मानवों में एकता और निकटता आ जाएँ। चंद्रमा और अंतरिक्ष पर पदार्पण पुराने मान के लिए एक सपना मात्र था। लेकिन आज वह संभव हो गया है।
अंतरिक्ष यात्रा, अंतरिक्ष यान आदि वर्तमान समाज के मुख्य विषय हैं। रेडियो, टेलिविज़न, मोबाइल, इंटरनेट, मौसम विज्ञान आदि सभी सुविधाओं के लिए अंतरिक्ष विज्ञान कृत्रिम उपग्रह आदि अनिवार्य हैं। ऐसी बातों की चर्चा करनेवाला यह कवितांश बिलकुल प्रासंगिक और अच्छा है।
15. संशोधन 2
हिंदी की परीक्षा थी। घंटी बजी। हमारे अध्यापक प्रश्नपत्र लेकर अए। मेरे लिए परीक्षा सरल थी।
16. वाक्यों को मिलाकर एक वाक्य बनाएँ। 2
राहुल मेरा दोस्त है।
मेरा दोस्त राहुल कॉलेज में पढ़ता है।
उत्तर: मेरा दोस्त राहुल चेन्नै के कॉलेज में पढ़ता है।
17. योजकों के प्रयोग से वाक्यों को जोड़ें। 2
मैं सो नहीं सका क्योंकि बाहर बड़ा शोर था इसलिए आज दफ़्तर से छुट्टी लेनी पड़ी।
गद्यांश के आधार पर उत्तर
18. 'घनी झाड़ियाँ' में 'घनी' विशेषण है। 1
19. उनकी = वे + की । वे सर्वनाम है। 1
20. कान्हा राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश में स्थित है। 1
21. राष्ट्रीय उद्यान पर्यावरण संतुलन बनाए रखने केलिए सहायक होते हैं। क्योंकि यहाँ पेड़-पौधे के साथ विभिन्न वन्य पशु-पक्षी पाले जाते हैं।
तैयारी: Ravi, GHSS, Kadannappally

Downloads:

5 comments:

  1. आपकेलिए हार्दिक बधाइयॉं।

    ReplyDelete
  2. വളരെ നന്നായി.
    आपकेलिए हार्दिक बधाइयॉं।
    1-जब मेमसाब ने कहा कि 'भूख से मरते हैं कमीने आदिमियों के बच्चे'
    2- उनके पिता के हाथ टेढ़े हैं
    ഈ വാക്യങ്ങള്‍ ശരിയാണോ എന്നൊരു സംശയം


    ReplyDelete
  3. कलामजी
    आपने ठीक ही कहा है।
    गलती थी।
    पोस्ट करने से पहले ठीक करह पढ़ने का अवकाश नहीं मिला।
    मुआफी माँगता हूँ।
    ठीक कर दिया है।
    हमें आप जैसे लोगों की ज़रूरत है।
    धन्यवाद।।।

    ReplyDelete
  4. सदुपयोगी....
    समयोजित...

    ReplyDelete
  5. अध्यापक बंधुओ, सभी पोस्ट बिलकुल त्रुटिहीन नहीं हो सकता। उसमें कमियाँ हो सकती हैं। तब उसपर आप अपना मत प्रकट करें। उसके साथ ही जितना हो सके, बेहतर नमूना भी प्रस्तुत करें। ऐसा करें तो पाठकों को और भी अच्छे नमूने मिलने में बहुत सहायक होगा। धन्यवाद। रवि.

    ReplyDelete

'हिंदी सभा' ब्लॉग मे आपका स्वागत है।
यदि आप इस ब्लॉग की सामग्री को पसंद करते है, तो इसके समर्थक बनिए।
धन्यवाद

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom