Powered by Blogger.

दसवीं कक्षा के बसंत मेरे गाँव का पाठ भाग केलिए सहायक सामग्रियाँ अब हिंदी सभा ब्लोग में.....

അഭ്യാസമില്ലാത്തവര്‍ പാകം ചെയ്തെതെന്നോര്‍ത്ത് സഭ്യരാം ജനം കല്ലുനീക്കിയും ഭുജിച്ചീടും..എന്ന വിശ്വാസത്തോടെ

e-mail:

amarhindi.ktr@gmail.com
hindimanthransabha@gmail.com
ഈ ബ്ലോഗ് ഞങ്ങള്‍ ചെയ്യുന്ന പ്രവര്‍ത്തനങ്ങള്‍ പങ്കുവെയ്ക്കുന്നതിനുള്ള ഒരു വേദി മാത്രമാണ്. ഇവിടെ പ്രസിദ്ധീകരിക്കുന്നവ ഉറവിടം സൂചിപ്പിച്ചുകൊണ്ട് ആര്‍ക്കുവേണമെങ്കിലും തീര്‍ത്തും സൗജന്യമായി ഉപയോഗിക്കാവുന്നതാണെന്ന് ബ്ലോഗ് ആരംഭിക്കുമ്പോള്‍ തന്നെ പ്രഖ്യാപിച്ചിരുന്നു. വാട്സാപ്പ് പോലെയുള്ള മാധ്യമങ്ങള്‍ക്ക് പ്രചാരം വന്നതോടെ ബ്ലോഗില്‍ നിന്ന് കോപ്പി ചെയ്ത് പ്രചരിപ്പിക്കുന്ന രീതി വ്യാപകമായിട്ടുണ്ട്. കൂടുതല്‍ പേരിലേയ്ക്ക് ബ്ലോഗെത്തുന്നു എന്നാശ്വസിച്ച് അത് അവഗണിച്ചിരുന്നു. എന്നാല്‍ ഇപ്പോള്‍ ബ്ലോഗിലെ മെറ്റീരിയലുകള്‍ സ്വയം തയ്യാറാക്കിയതാണെന്ന് അവകാശപ്പെട്ട് സ്വന്തം പേര് വച്ച് അവ പ്രചരിപ്പിക്കുന്നതായി കാണാനിടയായി. ആകയാല്‍ മുന്‍ പ്രഖ്യാപനം ഒരിക്കല്‍ക്കൂടി ആവര്‍ത്തിക്കുന്നു.
ഈ ബ്ലോഗില്‍ പ്രസിദ്ധീകരിക്കുന്ന ഉല്പന്നങ്ങള്‍ ഉറവിടം സൂചിപ്പിച്ചുകൊണ്ട് ആര്‍ക്കുവേണമെങ്കിലും തീര്‍ത്തും സൗജന്യമായി ഉപയോഗിക്കാവുന്നതാണ്. എന്റെ പ്രിയപ്പെട്ട അധ്യാപകസുഹൃത്തുക്കള്‍ ഈ വിനയപൂര്‍വ്വമായ അഭ്യര്‍ത്ഥന മാനിക്കുമെന്ന് വിശ്വസിക്കുന്നു

पुस्तक परिचय


 11. बाल निबन्ध,अर्थगृहण तथा पत्र लेखन
किसी भाषा के सीखने में निबन्ध एवं पत्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।विद्यार्थियों को प्रत्येक स्तर पर निबन्ध रूपी लंबे अथवा लघु उत्तर लिखने की आवश्यकता पड़ती है।यह पुस्तक मुख्य रूप से स्कूल के विद्यार्थियों और अध्यापकों को ध्यान में रखकर लिखी है।
अकर्षक चित्र।
प्रकाशक : गुडविल पब्लिशिंग हाउस,
बी ३,रतन ज्योति
१८,राजेन्द्र प्लेस,दिल्ली-११०००८
-मेल :goodwillpub@vsnl.net
web : www.goodwillpublishinghouse.com
पन्ना    160
मूल्य    ` 50/-
10. प्रेरक राष्ट्रीय गीत
प्रसिद्ध फिल्मी राष्ट्रगीतों का संग्रह। एक सराहनीय प्रयास है प्रकाशकों का।
प्रकाशक : प्रगति प्रकाशन
ट्रांसफॉमर के सामने
हालन गंज,मथुरा-२८१००१
-मेल
web :
पन्ना 96
मूल्य ` 30/-


9. मेरा दीवार
चिलड्रन्स बुक ट्रस्ट द्वारा आयोजित अंग्रेजी की बाल-साहित्य लेखन प्रतियोगिता के चित्र पुस्तक वर्ग में प्रथम आयी मई वाल रचना का हिंदी अनुवाद।
प्रकाशक : चिलड्रन्स बुक ट्रस्ट,नेहरू हाउस,
4,बहादूर शाह जफर मार्ग
विकास मार्ग,दिल्ली-११०००२
-मेल cbtnd@vsnl.com
web : www.childrensbooktrust.com
पन्ना 16
मूल्य ` 18

8.गुल्लू और एक सतरंगी
हिमदी में पहली बार बाल पाठकों केलिए शृंघला में बाल उपन्यास प्रकाशित हुआ है।य़ह उपन्यास कई खंडों में छपेगा।इसका प्रथम खंड़ पढ़ने में आनन्ददायक है।कहानी एक लड़के गुल्लू की है।वह एक बार सपने में एक सतरंगी पक्षी को देखता है।बाद में उसके जीवन में सचमुच एक सतरंगी पक्षी आता है।उसके आने से उसके घर के साथ-साथ पूरे गांव का भाग्य बदल जाता है।
प्रकाशक : किताबघर प्रकाशन,
            4855-56/24,
            अंसारी रोड़, दरियागंज
            नई दिल्ली-११०००२
            -मेल :
            web :
मूल्य      ` 115/- 

7.जंगल का राजा


इसकी कहानी तब की है,जब जंगल का कोई राजा नहीं था।हर एक सोचता रहता था कि वह राजा बनने योग्य है पर अंत में भालू दादा इस गुत्थी को सुलझाते हैं कि कौन निर्विवाद राजा बनने योग्य है। पुस्तक के चित्र बहुत सुन्दर हैं।
प्रकाशक : जंगल का राजा,
            नमन प्रकाशन,210 चिंटेल्स हाउस,
           16 स्टेशन रेड़,लखनऊ
            -मेल
            web :
पन्ना
मूल्य       ` 27/-   
6. मुल्ला नसीरुद्दीन की प्रिय कहानियाँ

मुल्ला नसीरुद्दीन बुखारा का एक ऐसा लोकप्रिय चरित्र है,जो दीन दुखियों की सहायता केलिए हमेशा तैयार रहता है।वही एक ऐसा व्यक्ति है जो सूदखोर जफर व अमीर के खिलाफ बुखारा की जनता में जागरूकता पैदा करता है।मुल्ला और बुखारा की जनता की जनता की समस्याओँ से जुड़ी कुछ ऐसी ही छोटी-छोटी कहानियों को इस पुस्तक में प्रस्तुत किया है जिनमें बुखारा की जनता की परेशानियों को मुल्ला द्वारा बड़े ही हास्याप्रद तरीके से सुलझाया गया है
प्रकाशक : टिनी टॉट पब्लिकेशन्स
             235,जागृति एनक्लेव
                                           विकास मार्ग,दिल्ली-११००९२
                                            -मेल tinytotpub@hotmail.com
पन्ना        176
मूल्य        ` 35/-

5. दादा-दादी की प्रिय कहानियाँ
इस पुस्तक में उन कहानियों को संकलित किया गया है जिन्हें हमने अपने बचपन में दादा-दादी द्वारा सुना है।भिन्न-भिन्न स्रोतों से उद्धृत ये कहानियाँ राजा-रानी,विदूषक,बालसुलभ चंचलता,पशु जगत आदि से परिचित तो कराती ही है,साथ ही हमें उपयुक्त शिक्षा देकर हमारा मार्गदर्शन भी करती है।
प्रकाशक : टिनी टॉट पब्लिकेशन्स
            235,जागृति एनक्लेव
            विकास मार्ग,दिल्ली-११००९२
            -मेल tinytotpub@hotmail.com
पन्ना       160
मूल्य      ` 35/-

4. मेरी प्रिय शिक्षाप्रद कहानियाँ
बच्चा उन्हीं कहानियों को सुनना ज़्यादा पसंद करते हैं जिनसे उन्हें कुछ शिक्षा मिलती है।जैसे जैसे उनकी आयू बढ़ती है वैसे वैसे इन कहानियों की शिक्षा से उनके मानसिक स्तर का विकास होता है।कहानियों का चयन करने केलिए पारंपरिक स्रोतों का सहारा लिया है जैसे पंचतंत्र ,हितोपदेश आदि।सभी कहानियों के अंत में उपयुक्त शिक्षा भी दी गई है।
प्रकाशक : टिनी टॉट पब्लिकेशन्स
            235,जागृति एनक्लेव
            विकास मार्ग,दिल्ली-११००९२
            -मेल tinytotpub@hotmail.com
पन्ना       160
मूल्य      ` 35/-

3. अकबर बीरबल की प्रिय कहानियाँ
अकबर बीरबल की कहानियाँ ऐसी कहानियों का संकलन है जिनमें बीरबल अपनी बुद्धिमत्ता,चतुराई और हाजिर जवाबी से अकबर को सदा निरुत्तर बना देते थे।पूरे विश्व में बच्चे इन कहानियों को बड़े चाव से पढ़ते हैं।इस पुस्तक की भाषा-शैली बच्चों के अनुरूप तैयार की गई है।
प्रकाशक : टिनी टॉट पब्लिकेशन्स
            235,जागृति एनक्लेव
            विकास मार्ग,दिल्ली-११००९२
            -मेल tinytotpub@hotmail.com
पन्ना       160
मूल्य      ` 35/-

2. तेनालिराम की प्रिय कहानियाँ
तेनालीराम राजा कृष्णदेव राय के दरबार का एक ऐसा चरित्र है जिसकी चतुराई भरी कहानियाँ जन जन में लोकप्रिय है।इस पुस्तक की सरल भाषा-शैली और आकर्षक चित्र बच्चों के अनुरूप प्रस्तुत किए गए हैं।
प्रकाशक : टिनी टॉट पब्लिकेशन्स
            235,जागृति एनक्लेव
            विकास मार्ग,दिल्ली-११००९२
            -मेल tinytotpub@hotmail.com
पन्ना       160
मूल्य      ` 35/-

1. सोनाली का मित्र
का,का”सोनाली बगीचे में बैठी अपने मित्र कौए को बुला रही है।वह बिस्कुट खा रही है।“का,का”यह पहला शब्द है सोनाली ने बोलना सीखा।
एक बरस की सोनाली और एक कोए के बीच की दोस्ती की कहानी।रोचक भाषा और शैली।अकर्षक चित्र।
प्रकाशक : चिलड्रन्स बुक ट्रस्ट,नेहरू हाउस,
            4,बहादूर शाह जफर मार्ग
            विकास मार्ग,दिल्ली-११०००२
            -मेल cbtnd@vsnl.com
           web : www.childrensbooktrust.com
पन्ना      16
मूल्य     ` 18/-

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom