Powered by Blogger.

ഒരു ഹൈടെക് പുതുവര്‍ഷത്തിലേയ്ക്ക് ഏവര്‍ക്കും സ്വാഗതം.....

അഭ്യാസമില്ലാത്തവര്‍ പാകം ചെയ്തെതെന്നോര്‍ത്ത് സഭ്യരാം ജനം കല്ലുനീക്കിയും ഭുജിച്ചീടും..എന്ന വിശ്വാസത്തോടെ

Thursday, February 13, 2014

आसरा 17 (13.02.2014) - (13-02-2014)sslc model answer

Flashing hot - Click image to download.PDF രൂപം പോസ്റ്റിന് താഴെ നിന്ന് ഡൗണ്‍ലോഡ് ചെയ്യാം
1. तालिका की पूर्ति करके लिखें। 2
पाठ
प्रोक्ति
रचयिता
मुफ़्त में ठगी
कविता
 रामकुमारआत्रेय
वापसी
कहानी
उषा प्रियंवदा
भारतीय संस्कृति में गुरु शिष्य संबंध
लेख
आनंद शंकर माधवन
सकुबाई
एकपात्रीय नाटक
नादिरा ज़हीर बब्बर
2. आंग्रेज़ी शब्दों के स्थान पर उनके समानार्थी शब्दों से खंड का पुनर्लेखन 3
पिताजी डाक घर में डाक टिकट और अंतर्देशीय पत्र कार्ड खरीदने गये। वहाँ वे जीवन बीमा निगम के एक कर्मचारी मिले।
3. कोष्ठकों से घटनाएँ चुनकर खाली स्थानों की पूर्ति- 2
  • डॉक्टर की लापरवाही शीर्षक से समाचार पत्र में खबर निकली।
  • बाबूलाल तेली को चिकित्सा के लिए मुंबई भेज दिया।
  • बाबूलाल तेली की नाक पूर्ण रूप से काटकर फ़ेंक देनी पड़ी।
  • बाबूलाल तेली को जुलूस के रूप में घर लाया गया।
4. गजाधर बाबू की विशेषताएँ- 2
  • परिवार के लिए परिश्रम करनेवाला।
  • परिवार से प्रेम रखनेवाला।
सूचनाः 5 से 7 तक के प्रश्नों में से किन्हीं दो प्रश्नों के उत्तर लिखें।
5. नदी मानव की स्वार्थपूर्ति के लिए बनाए गए कार्खानों से विषैला जल और कूड़े-कचड़ आदि से बिलकुल प्रदूषित हो गई है। इसलिए कवि ने कहा है कि नदी की शुभ्र त्वचा बैगनी हो गई। 2
6. भारतीय संस्कृति के अनुसार एक गुरु के लिए अपना शिष्य अपने बेटे से भी प्यारा होता है। संगीतकारों, पहलवानों और साधुओं के बीच में आज भी अच्छा गुरु-शिष्य संबंध कायम है। गामा के कथन से यही व्यक्त होता है। यह अच्छा और अनुकरणीय है।
7. मध्यवर्गीय परिवार के लोगों का विचार है कि हमने घर का काम करने के लिए बाई रखी है तो हम काम क्यों करें। घर के सारे-के-सारे काम नौकरानियों पर छोड़ने का बुरा मनोभाव यहाँ व्यक्त होता है।

सूचनाः 8 से 11 तक के प्रश्नों में से किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर लिखें।

8. गौरा की दयनीय दशाः महादेवी वर्मा और पशु चिकित्सक के बीच का
वार्तालाप। 4
महादेवीः आइए डॉक्टर, हमारी गौरा की जाँच कीजिए।
पशु चिकित्सकः हाँ जी, हम आपकी गौरा की जाँच अभी करते हैं। अच्छा गाय को क्या
हुआ है?
महादेवीः आजकल यह दाना-चार बहुत कम लेती है और उत्तरोत्तर कमज़ोर
होती जा रही है।
पशु चिकित्सकः कितने दिनो से यह दिखाई पड़ा है?
महादेवीः 10-15 दिनों यह ऐसी है। ऐसा क्यों होता है डॉक्टर?
पशु चिकित्सकः जाँच करना पड़ेगा।
महादेवीः क्या यह कोई बीमारी होगी डॉक्टर?
पशु चिकित्सकः मुझे संदेह है कि उसके पेट में सुई पहुँची है।
महादेवीः सुई! वह कैसे होती है! दाना-चारा तो हमीं देते हैं।
पशु चिकित्सकः दाना-चारा के साथ सुई पेट तक नहीं पहुँचती। मुँह में छिदकर रहती है। किसी ने खिलाई होगी।
महादेवीः कैसे बचा सकते हैं डॉक्टर?
पशु चिकित्सकः निश्चित रूप से बताने के लिए एक्स रे, निरीक्षण-परीक्षण आदि करना
पड़ेगा।
महादेवीः जल्दी कीजिए। मेरी गौरा को बचाइए।
9. एनॉटमी हॉल के अनुभवों के आधार पर मित्र के नाम देवदास का पत्र। 4
तिरुवनंतपुरम,
तारीखः...............
प्रिय महेश,
तुम कैसे हो? घर में सब कैसे हैं? मैं यहाँ ठीक हूँ।
मेडिकल कॉलेज में आज मेरा पहला दिन था। थोड़ी-सी घबराहट के साथ आज मैं कॉलेज पहुँचा। एनॉटमी हॉल में एनॉटमी के प्रोफेसर डॉ. कुमार ने बड़ा भाषण दिया। पूरे भाषण में उपदेश और निर्देश थे। वे कह रहे थे कि, यह एक निस्वार्थ सेवा है, पैसे की लालच में कोई भी डॉक्टर न बने आदि। डॉक्टर के लिए वसुधा ही कुटुंब है। उसे धर्म, जाति, लिंग, भाषा, रंग आदि किसी भी भेदभाव नहीं होना चाहिए। उनका भाषण समाप्त होने पर ऐसा लगा कि एक आँधी उभरी और धम गई। हॉल में बड़े मर्तबानों में मानव शरीर के विभिन्न अंग दवा में डालकर रखे थे। क्या-क्या पढ़ना होगा!
तुम्हारे माँ-बाप को मेरा प्रणाम। शेष बातें अगले पत्र में।
तुम्हारा मित्र,
देवदास।
सेवा में
श्री. के. महेश,
….................
10. पिल्लों को गरम पानी में डुबोकर मरवा दिया है। डौली की डायरी। 4
तारीखः...................
आज मैं स्कूल से वापस आने पर पिल्ले गायब थे। मैं लंबी देर तक ढूँढती रही। लेकिन अंत में पता चला कि उनको गरम पानी में गोता देकर मरवा दिया गया है! मेरी मामा और आया पहले झूठ बोल रही थीं। मैं रो-रोकर बेहाल हो गई। शामको मैंने कुछ नहीं खाया। हे भगवान! इतने प्यारे पिल्लों के कैसे मार सकते हैं! मेरे मामा-पापा कैसे यह निष्ठुर कार्य करवा सकते हैं! मैं उनसे बात नहीं करूँगी। मेरे लिए यह असह्य है। आया ने कहा था कि डैनी पिल्लों को पर्याप्त मात्रा में दूध दे नहीं सकती। मैं विश्वास नहीं करती। यह बड़ी निर्ममता है। यह दिन मैं कैसे भूलूँ।
11. हाथियों द्वारा मरे हाथी को दफ़नाने की घटना अगले दिन के समाचार पत्र
में। 4
साथियों ने किया हाथी का शवदाह
राँची : तोरपा जंगल के बीच की सड़क पर नीचे गिरे बिजली के तारों से झटका लगकर एक हाथी मर गया था। खबर पाते ही गाँववाले वहाँ पहुँचे और लाठी से मारकर, ठोकर मारकर और चाकू से मारकर अपना गुस्सा उतारने लगे। क्योंकि कुछ दिन पहले एक जंगली हाथी ने तोरपा ब्लॉक के कई घरों और इनसानों को रौंद डाला था। पुलिसवाले भी दाँत निकालकर उनके साथ लगे थे। एक महीने तक लाश वहाँ पड़ी रही। फिर हाथियों का झुंड वहाँ आकर उसके चारों ओर घेर लिया। किसी को उसके पास तक फटकने नहीं दिया। दिन रात उसकी रखवाली करके वे जंगल में एक गड्ढा ढूँढकर उसमें दफनाया। मानव लाश पर भी अत्याचार कर रहे थे, लेकिन हाथियों ने अपने साथी की लाश का अंतिम संस्कार किया।
सूचनाः कवितांश पढ़कर 12 से 14 तक के प्रश्नों के उत्तर लिखें।
12. सूरज हमको जगाता है। 1
13. 'सूरज' 1
14. कविता का आशय- 3
यह कवितांश सूरज के महत्व के बारे में बताता है।
कवि कहता है कि सूरज आसमान में सुबह आकर हमको रोज़ जगाता है। वह अपने पथ पर कभी नहीं रुकता। एक ही गति में आगे बढ़ता रहता है। गर्मी में सूरज आग के समान गर्मी पैदा करता है। लेकिन यही सूरज बरसात के दिनों में चुपके से आकर सात रंगों का इन्द्रधनुष बनाता है। तब आकाश बहुत सुंदर होता है।
सूरज रोज़, निरंतर एक ही गति में चलकर हमें रात और दिन देता है। रोशनी, गर्मी और ऊर्जा देकर वह हमारी बड़ी सहायता करता है। सूरज का महत्व बतानेवाला यह कवितांश बहुत अच्छा है।
सूचनाः संशोधन करके खंड का पुर्लेखन करें।
15. वर्षा का दिन था। राजू ने उसकी (अपनी) छतरी नहीं ली थी। वर्षा समाप्त होने तक स्कूल में वह खड़ा रहा
2
सूचनाः उचित विशेषण चुनकर खंड का पुनर्लेखन करें।
16. छोटा बच्चा प्यासा था। वह ठंडा पानी पीने का इच्छुक था। 2
सूचनाः उचित योजग चुनकर वाक्यों को जोड़कर लिखें
17. कल छुट्टी है इसलिए (कल) पढ़ाई नहीं है। 1
सूचनाः खंड पढ़कर 18 से 21 तक के प्रश्नों के उत्तर लिखें।
18. 'उसमें' में प्रयुक्त सर्वनाम वह है।
19. 'एक विचित्र बीमारी फैल गई।' वाक्य में 'बीमारी' शब्द संज्ञा है। 1
20. 1945 में हिरोशिमा में एटम बम गिरा। 1
21. हिरोशिमा शहर में परमाणुबम गिरने से हुए विस्फोट में पूरे शहर का नाश हुआ। गर्मी, सर्दी, महामारी आदि इस विस्फोट के बाद की आपदाएँ थीं। लाखों लोगों की मृत्यु हुई, उससे भी अधिक लोग घायल हुए। परमाणु बम ने पूरे शहर को तहस-नहस कर डाला। 2

PDF Download from here

Downloads:

7 comments:

  1. RAVIJI MY HEARTY CONGRATS FOR UR EFFORT. THANKS A LOT

    ReplyDelete
  2. RAVIJI MY HEARTY CONGRATS FOR UR EFFORT. THANKS A LOT

    ReplyDelete
  3. Very good effort sir. rejo devi, rpmhs,kumbalam

    ReplyDelete
  4. बंधुओ, उत्तर पुस्तिका सूक्ष्मता से पढ़कर कुछ कमियाँ हैं तो वह भी बताइएगा। रवि

    ReplyDelete
  5. HARIS O K K P M S M H S S ARRIKULAM KOYILAND SIR, I WISH TO SHOW MY APPRECIATION FORWHAT YOU HAVE DONE

    ReplyDelete
  6. priyappetta ravimashe.....

    " dhanyawaad...."

    NAMMUDE BLOGIN ELLA BHAAVUKANGALUM.....

    RAOPOONJAR

    ReplyDelete

'हिंदी सभा' ब्लॉग मे आपका स्वागत है।
यदि आप इस ब्लॉग की सामग्री को पसंद करते है, तो इसके समर्थक बनिए।
धन्यवाद

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom