Powered by Blogger.

ഒരു ഹൈടെക് പുതുവര്‍ഷത്തിലേയ്ക്ക് ഏവര്‍ക്കും സ്വാഗതം.....

അഭ്യാസമില്ലാത്തവര്‍ പാകം ചെയ്തെതെന്നോര്‍ത്ത് സഭ്യരാം ജനം കല്ലുനീക്കിയും ഭുജിച്ചീടും..എന്ന വിശ്വാസത്തോടെ

Tuesday, June 07, 2016

रिज़ल्ट के दिन साहिल की डायरी।

फुलेरा
तारीख
        आज पाँचवीं के रिज़ल्ट का दिन था। मैं और बेला हम दोनों पास हो गए। लेकिन मन उदास है। क्योंकि कल से बेला से मिल नहीं पाऊँगा। अगले साल वह राजकीय कन्या पाठशाला में पढ़ेगी। घरवाले मुझे अजमेर भेज देंगे। घर से दूर, होस्टल में मुझे अकेला रहना पड़ेगा।
आज तक कितनी खुशी थी! बारिश में बेला के साथ बीरबहूटियों को खोजकर कितने दिन बिताए। कल से मैं किसके साथ लंगड़े का खेल खेलूँ? बेला भी दुखी होगी। क्या वह मुझे याद करेगी? मेरा रिपोर्ट कार्ड देखते समय उसकी आँखों में आँसू आ गए। मेरा विश्वास है कि वह भी दुखी है। क्योंकि हमारी दोस्ती उतनी सख्त थी।

7 comments:

  1. आप के इस श्रम को सर्वथा मानते हुए....
    'कल से बेला से मिल नहीं पाऊँगा','क्या वह मुझे याद करेगी', उसकी आँखों में आँसू आ गये'- इन छोटी त्रुटियों को सुधारना चाहूँगी| आशा है आप बुरा नहीं मानेंगे|

    ReplyDelete
  2. यह ब्लोग हिंदी अध्यापक बंधुओं को लाभदायक है। आशा करता हूँ कि उच्च स्तर पर पहुंचे।

    ReplyDelete
  3. यह ब्लोग हिंदी अध्यापक बंधुओं को लाभदायक है। आशा करता हूँ कि उच्च स्तर पर पहुंचे।

    ReplyDelete
  4. मुझे यह ब्लॉग बहुत ही पसंद आया आप भी मेरे ब्लॉग मे एक बार जरूर आए
    gk in hindi

    ReplyDelete
  5. आपके इस ब्लॉग मे काफी ज्ञान वर्धक जानकारी प्राप्त हुई, आशा करता हूँ आप भी मेरे इस ब्लॉग मे एक बार जरूर पधारे

    gk in hindi

    ReplyDelete

'हिंदी सभा' ब्लॉग मे आपका स्वागत है।
यदि आप इस ब्लॉग की सामग्री को पसंद करते है, तो इसके समर्थक बनिए।
धन्यवाद

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom