Powered by Blogger.

ഒരു ഹൈടെക് പുതുവര്‍ഷത്തിലേയ്ക്ക് ഏവര്‍ക്കും സ്വാഗതം.....

അഭ്യാസമില്ലാത്തവര്‍ പാകം ചെയ്തെതെന്നോര്‍ത്ത് സഭ്യരാം ജനം കല്ലുനീക്കിയും ഭുജിച്ചീടും..എന്ന വിശ്വാസത്തോടെ

Monday, August 12, 2013

डायरी लेखन - एक प्रक्रिया

के. एस. टी. . के अकादमिक परिषद की सहाय पुस्तिका (2012-13)से
  • आप यह अंश छात्रों को दें ।
    चंगा होने के बाद बाबूलाल तेली को एक जुलूस के रूप में घर लाया गया" । 
    घर पहुँचकर उन्होंने अपनी डायरी लिखी । उनकी डायरी कल्पना करके तैयार करें
  • वाचन करने का निर्देश दें ।
  • प्रसंग समझाने केलिए ये प्रश्न पूछें ।
      • बाबूलाल तेली को क्या हुआ था ?
      • अस्पतालवालों से उनको क्या-क्या अनुभव हुए ?
      • अस्पतालवालों, मित्रों, बंधुजनों के व्यवहार कैसे थे ?
      • इस घटना पर अपना विचार क्या था ?
      • ....................
  • विचारों या उत्तरों को क्रमबद्ध लिखवाएँ ।
  • पूछें, डायरी तैयार करते समय ध्यान देने की बातें क्या-क्या हैँ ?
      • चर्चा चलाएँ और इन बातों से संक्षिप्तीकरण करें ।
  • स्थान और तारीख हो ।
  • स्वाभाविकता हो ।
  • प्रभावपूर्ण प्रसंगों का उल्लेख हो ।
  • प्रसंगों पर अपना विचार एवं तुलना हो ।
  • आत्मनिष्ठ भाषा का प्रयोग हो ।
  • छात्रों से वैयक्तिक रूप से लिखवाएँ ।
  • दल में चर्चा चलाएँ और दो-तीन दलों से प्रस्तुतीकरण करवाएँ ।
  • आप अपना प्रस्तुतीकरण करें ।
नागपुर,
2012 अगस्त 14
महीनों बाद आज घर पहुँचा । शामको सभा हुई । अच्छी-अच्छी बातें हुई । फिर जुलूस ने मुझे घर पहुँचा दिया । पत्नी और परिवारवालों की खुशी देखी । किसी व्यक्ति के मारने पर मैंने आवाज़ उठायी । इस पर उसने मेरी नाक पर मारा । शानदार अस्पताल पहुँचने पर टेस्ट पर टेस्ट किये । बहुत सारे पैसे खर्च हुए । परिवारवाले और साथी कर्मचारी लोगों ने सरकारी अस्पताल जाने को कहा था । लेकिन प्राइवट क्लिनिक पर ऑपरेशन हुआ । पर हालत बिगड गई । बंबई जाना पडा । बाद में मालूम हुआ कि कुछ सज्जन इसकेलिए चंदा किया और उन्होंने ही बंबई पहुँचा दिया था । शुक्र है उनका । अनाचार के विरुद्ध आवाज़ उठाने पर अपनी नाक खोनी पडी । ये सब सोचकर अब भी भय और अद् भुत है । आगे समाज के कोई भी व्यक्ति अनाचर पर आवाज़ उठाएगा ? हे भगवान ऎसा अनुभव दूसरों को न दे ।
  • पूछें, डायरी के मूल्यांकन सूचक क्या-क्या हैं ?
  • चर्चा चलाएँ और निम्नलिखित मूल्यांकन सूचकों का परिचय दें ।
आशय समझकर लिखा है ।
डायरी की रूपरेखा है ।
उचित भाषा एवं शैली का प्रयोग किया है ।

2 comments:

'हिंदी सभा' ब्लॉग मे आपका स्वागत है।
यदि आप इस ब्लॉग की सामग्री को पसंद करते है, तो इसके समर्थक बनिए।
धन्यवाद

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom